बच्चों के लिए चमत्कारी गुण हैं।बत्तख के अंडे सर्दी में। Duck egg fact in winter 2021.


आपने यह कहावत तो सुनी होगी जो बरसों पुरानी है। कि संडे हो या मंडे रोज खाओ अंडे लेकिन कौन सा अंडा खाना हमारे लिए ज्यादा लाभदायक है। यह जाने आप इस लेख के माध्यम से।

अपने शरीर को हेल्दी और फिट रखने के लिए अंडे खाना बहुत ही जरूरी है। अंडे के अंदर मौजूद प्रोटीन और विटामिन एंड कैलशियम हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक है। एक रिसर्च के मुताबिक यह पाया गया कि पूरी दुनिया में मुर्गी के अंडे का सेवन अधिक है। लेकिन क्या आप जानते हैं मुर्गी के अंडे से ज्यादा चमत्कारी गुण बत्तख के अंडे में पाए जाते हैं।बत्तख के अंडे में पाए जाने वाले पोषक तत्व मुर्गी के अंडे के मुकाबले कहीं ज्यादा बेहतर है। बच्चे के शारीरिक के विकास को वृद्धि करने में बहुत अति लाभदायक है।लेकिन एक रिसर्च के मुताबिक एशियाई देशों में बत्तख के अंडे को बहुत ज्यादा पसंद किया गया है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि बत्तख के अंडे का सेवन मुर्गी के अंडों के सेवन से कहीं अधिक ज्यादा फायदेमंद है।

देखने  के साथ साइज में भी बदक के अंडे होते हैं मुर्गी के अंडे के मुकाबले काफी अच्छे।


बत्तख के अंडे देखने में अपने रंग के वजह से बहुत ज्यादा खूबसूरत नजर आते हैं। पीले, हरे, नीले, ग्रे और काली शेड के बत्तख के अंडे मुर्गी के अंडों के सामने बहुत ज्यादा खूबसूरत नजर आते हैं।  साधारण से दिखने वाले मुर्गी के अंडे बत्तख के अंडे के सामने कुछ नहीं है। इसके साथ बदक के अंडे मुर्गी के अंडों के सामने 20 पर्सेंट बड़े होते हैं।


मुर्गी के अंडों के मुकाबले बदक के अंडे में प्रोटीन की खान।

संयुक्त राज्य अमेरिका में एक रिसर्च में खोज की गई। पांच मुख्य प्रकार के प्रोटीन पाए जाते हैं। जो हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक हैं। इनके अंदर ओवलबुमिन(40%),ovomucoid(10%),ovotransferrin(2%),ovomucin (3%),और lysozyme (1.2%) पाए जाते हैं। बाकी अंडों की तुलना में बत्तख के अंडे के अंदर प्रोटीन ज्यादा होता है इसलिए यह बहुत ही न्यूट्रीशीयस  माने जाते हैं।


बत्तख के अंडे में फोलेट की मात्रा ज्यादा होती है।

प्रेगनेंसी कॉम्प्लिकेशंस हार्ट डिजीज और कैंसर जैसी बीमारियों के होने के लिस्ट को खोले टिया विटामिन b9 कम करता है सौ ग्राम बत्तख के अंडे के अंदर 80 माइक्रोग्राम फोलेट पाया जाता है। वहीं पर देखा जाए तो मुर्गी के 100 ग्राम अंडे के अंदर सिर्फ और सिर्फ 47 ग्राम ही फोलेट पाया जाता है।


बत्तख के अंडे के अंदर विटामिन b12 का अच्छा सोर्स है।

एक रिसर्च के अनुसार मुर्गी के अंडे या बाकी एबीएन के मुकाबले बत्तख के अंडे के अंदर जर्दी ज्यादा होता है। एक शोध के अनुसार यह पता लगाया गया था कि सर्दी के अंदर विटामिन b12 ज्यादा होता है। इसलिए ज्यादा जर्दी होने के कारण बाकी अंडो के मुकाबले  बत्तख के अंडे के अंदर विटामिन b12 होता है।


ओमेगा 3 फैटी एसिड बनाता है। बत्तख के अंडे को और ज्यादा खास।



सर्दी के अंदर फैटी एसिड जैसे linoleic ecid बहुत पाए जाते हैं। मुर्गी के अंडों की तुलना में बत्तख के अंडे के अंदर जर्दी ज्यादा पाई जाती है। इसलिए ओमेगा 3 फैटी एसिड ज्यादा होता है। यह न्यू ट्रिक एंड हमारे दिल के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। साथ में यह शरीर के लिए जरूरी फैटी एसिड की पूर्ति करता है। इसलिए बत्तख के अंडे को मुर्गी के अंडे के मुकाबले ज्यादा best माना गया है।


बैक करने के लिए बत्तख के अंडे हैं कुछ खास।

बत्तख के अंडे के अंदर alveiwyumin इन ज्यादा होता है। जो उसे बैकिंग के लिए बहुत खास बनाता है। बत्तख के अंडे में फार्मिंग प्रॉपर्टीज होती है।  और उनका repid ubsorpshan रेट ज्यादा होता है।

बत्तख के अंडे के अंदर फोम ज्यादा स्टेबल होता है। और इसमें मौजूद न्यूट्रीशन को ज्यादा तापमान के दौरान हानि भी नहीं पहुंचती है। इसलिए बत्तख के अंडे बेकिंग के लिए ज्यादा अच्छे माने जाते हैं। और मजबूत भी माने जाते हैं।

बत्तख के अंडे रखरखाव में और संभालने में ज्यादा कारगर है।


बत्तख के अंडे का सेल बहुत मजबूत होता है। और यह आसानी से टूटता नहीं है। हमारी इस बात को आप ऊपर दिए गए हेड लाइन से ही समझ गए होंगे। रखरखाव में कितने मजबूत हैं। रूम टेंपरेचर के दौरान बत्तख के अंडे के अंदर मौजूद प्रोटीन इसके सेल लाइफ को और बढ़ाते हैं। इसलिए बत्तख के अंडे को संभालना और इनका रखरखाव करना बहुत ही आसान है।


एलर्जी के दौरान बत्तख के अंडों का चुनाव है सही।


बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हें अंडे खाने से फूड एलर्जी हो जाती है। अंडो के अंदर मौजूद ovomucoid इस फूड एलर्जी का मुख्य कारण है। यह प्रोटीन मुर्गी और बत्तख दोनों के अंडों में पाया जाता है। अगर आप को भी इस प्रोटीन से एलर्जी है। तो आप बत्तख के अंडे खा सकते हैं।


बत्तख के अंडे के अंदर पाया जाता है, एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टी।



बत्तख के अंडे के अंदर जो पीली जर्दी होती है। उसको छोड़ कर उसका जो एक वाइट एरिया होता है। वह बैक्टीरिया से लड़ने के लिए काफी कारगर है, उसके अंदर काफी क्षमता होती है। जो एंब्रियो डेवलपमेंट को हानि से बचा सकते हैं। शोध के अनुसार यह पता चला था कि मुर्गी के अंडों की तुलना में बत्तख के अंडे के अंदर salmonella के खिलाफ एंटीमाइक्रोबियल्स प्रॉपर्टी होती है।

इसलिए इन सभी कारणों की वजह से मुर्गी के अंडे से ज्यादा बेहतर बत्तख के अंडे को माना गया है।


बच्चों के लिए सर्दी में ज्यादा कारगर साबित हुए हैं बदक के अंडे।

आपने बरसो पुरानी कहावत तो सुनी होगी कि संडे हो या मंडे और सर्दी में रोज खाओ अंडे दोस्तों यह उपरोक्त लाइन जो मैंने कहीं यह बिल्कुल सत्य है। बत्तख के अंडे के सर्दी में खाने के बच्चों के लिए चमत्कारी गुण हैं। आप शायद जानते नहीं होंगे इस सर्दी में बत्तख के अंडे खिलाने से बच्चों को ठंड नहीं लगेगी। सर्दी- जुकाम, निमोनिया का अटैक नहीं होगा। बत्तख के अंडे में कैल्शियम प्रोटीन ज्यादा मात्रा में पाया जाता है। जिसको बच्चे को खिलाने मैं बहुत फायदा होता है। इसका मुख्य कारण यह है कि सर्दी में खिलाने से बच्चों को ठंड नहीं लगेगी। और कैल्शियम होने के कारण अंडे में बच्चे की हड्डियां मजबूत होगी। जिससे उसके शारीरिक विकास में वृद्धि होगी। अंडे में मौजूद विटामिन b12 बच्चों को शारीरिक रूप से ताकतवर बनाएगा और बच्चे के आंखों की रोशनी मैं भी वृद्धि होगी। इसलिए मुर्गी के अंडे के मुकाबले बत्तख के अंडे को बहुत अधिक महत्व दिया गया है।

Post a Comment