POP क्या है ?

पीओपी क्या है? इस सवाल का जवाब आप को इसी लेख में मिलने वाला है। पीओपी का मतलब प्लास्टर ऑफ पेरिस से है। प्लास्टर ऑफ पेरिस 1000 डिग्री सेल्सियस और  1900 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर गर्म कर उसमें से पानी का एक तिहाई भाग निकाल दिया जाता है।

 तब जाकर जिप्सम से प्लास्टर ऑफ पेरिस बनता है। प्लास्टर ऑफ पेरिस एक ऐसा पदार्थ है जो पानी के साथ मिक्स करके बिल्डिंग और इमारतों में डिजाइन बनाने के काम आता है जो बहुत ही जल्द सख्त हो जाता है


(POP) प्लास्टर ऑफ पेरिस का उपयोग।

प्लास्टर ऑफ पेरिस का प्रयोग ज्यादातर बिल्डिंग इमारतों के छत में डिजाइन बनाने मैं प्रयोग किया जाता है। प्लास्टर ऑफ पेरिस एक ऐसा पदार्थ है जिसे पानी के साथ मिक्स करके डिजाइन बनाने के उपयोग में आता है जो बहुत ही जल्द सख्त हो जाता है। 


चिकित्सा के क्षेत्र में भी प्लास्टर ऑफ पेरिस का उपयोग किया जाता है। ऑर्थोपेडिक प्लास्टर ऑफ पेरिस का उपयोग हड्डी को जोड़ने में करते हैं। जब किसी मरीज की हड्डी टूट जाती है तब ऑर्थोपेडिक टूटी हड्डी की जगह पर प्लास्टर ऑफ पेरिस से प्लास्टर करके हड्डी को जोड़ने की कोशिश करते हैं। ऑर्थोपेडिक प्लास्टर ऑफ पेरिस को पानी के साथ मिक्स करके टेस्ट बना लेते है।

और इसके बाद मरीज के हड्डी टूटने की जगह पर बांस की खपची के साथ प्लास्टर ऑफ पेरिस का पेस्ट लगा देते हैं जिसकी वजह से टूटी हड्डी जुड़ने लगती है।


इस लेख में हम आपको POP से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जानकारियों से अवगत कराएंगे साथ ही यह भी बताएंगे कि इसका नाम प्लास्टर ऑफ पैरिस क्यों पड़ा।


POP की फुल फॉर्म है Plaster of Paris (प्लास्टर ऑफ पेरिस)


 


प्लास्टर ऑफ पेरिस का रासायनिक सूत्र

CaSO4.¹/₂H2O


 

अंग्रेजी में “प्लास्टर” का अर्थ होता है। ऐसी सामग्री जिसका प्रयोग इमारतों के अंदरूनी हिस्सों के लिए उपयोग किया जाता है।

POP एक ऐसा कैमिकल पदार्थ होता है, जो सफेद पाउडर जैसा होता है। जिसमें पानी मिलाकर इसका प्रयोग किया जाता है। पीओपी बहुत जल्दी कठोर होने वाला पदार्थ होता है।


 पीओपी का प्रयोग दीवारों और छतों पर decorative coating करने और सांचो(moulds) द्वारा decorative elements बनाने के लिए किया जाता है। POP से भवनों की दीवारों या छतों पर बने डिजाईन काफी आकर्षक भी लगते हैं।


POP का प्रयोग चिकित्सा के क्षेत्र में भी प्रमुखता से किया जाता है। ऑर्थियोपैडिक इसका प्रयोग टूटी हड्डियों को जोड़ने के लिए करते हैं।

प्लास्टर ऑफ पेरिस का रासायनिक सूत्र:-



प्लास्टर ऑफ पेरिस का रासायनिक सूत्र

CaSO4.¹/₂H2O



POP का नाम कैसे प्लास्टर ऑफ पेरिस पडा।

POP का नाम प्लास्टर ऑफ पेरिस इसलिए पड़ा क्योंकि पेरिस में जिप्सम पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। और जिप्सम से ही प्लास्टर ऑफ पेरिस प्राप्त होता है। पेरिस में पर्याप्त मात्रा में जिप्सम होने के कारण ही इसे प्लास्टर ऑफ पेरिस कहा जाता है।


मिस्र के बारे में तो आपने सुना होगा यह वही देश है जहां पर मुस्लिम धर्म के एक नवी हजरत यूसुफ अलेहिस्लाम को जुलेखा के सोहर ने खरीदा था।जो मुसलमान भाई मेरी साइट पर यू पोस्ट पड़ रहे होंगे वो समझ गए होंगे।मिस्त्र का नाम आते ही मुस्लिम समाज में हजरत यूसुफ अलेहिसलम का खयाल आ जाता है।


लेकिन POP का प्रयोग सबसे पहले मिस्र के लोगों ने किया था। मिस्र के अधिकतर मकबरों में आज भी इसका उपयोग देखा जा सकता है।

इसके बाद यूनानियों ने अपने घरों, मंदिरों के अलावा कई अन्य स्थानों पर इसका प्रयोग करना शुरू किया था।


लंदन में 1666 में लंदन में बहुत भयानक आग लगी थी जिससे काफी नुक्सान हुआ।

चूंकि प्लास्टर ऑफ पेरिस आग प्रतिरोधी है। इसलिए इस आगजनी के बाद, फ्रांस के राजा ने पेरिस में लकड़ी से बनी सभी दीवारों को तुरंत प्लास्टर से कोटिंग करने का आदेश जारी किया। ताकि भविष्य में एसी तबाही से बचा जा सके।

मैं उम्मीद करता हूं अब आपके समझ में आ गया होगा प्लास्टर ऑफ पेरिस क्या है। और यह किस काम में आता है। आपको अपने सवाल का जवाब मिल गया होगा। अगर आपको मेरे द्वारा दी गई POP की जानकारी अच्छी लगी हो। तो प्लीज मेरी इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करो। और कमेंट बॉक्स में कमेंट करना ना भूलें। क्योंकि आपकी कमेंट से मुझे सुधार करने का मौका मिलेगा।

Post a Comment