रोबोट वाडलों है, दुनिया के सबसे लंबे आदमी गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में है नाम दर्ज।

आप अगर दुनिया के सबसे लंबे या छोटे आदमी कौन है। इसके बारे में इंटरनेट पर सर्च करते हैं, तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे हैं। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपकी यह खोज पूरी हो जाती है।



दुनिया के सबसे लंबे या छोटे आदमी का रिकॉर्ड समय-समय पर बदलता रहता है। आज वर्तमान में दुनिया के सबसे लंबे आदमी का रिकॉर्ड रोबोट वाडलो के नाम है। जिसको आज तक इस पोस्ट के लिखने के समय तक कोई नहीं तोड़ पाया है। लेकिन दुनिया के सबसे लंबे आदमी का रिकॉर्ड आज तक नहीं बदला है। 



और जो अभी तक पिछले 80 सालों से बरकरार है। सन 1940 से अभी तक इस वर्ल्ड रिकॉर्ड को कोई नहीं तोड़ पाया है। और अगर आप नहीं जानते हैं, कि कौन है वह आदमी जो आज भी  इस रिकॉर्ड को बरकरार रखने में सफल रहा है। तो चलिए हम आपको बताते हैं।



इसी आर्टिकल में। वह आदमी है अमेरिका का रोबोट वार्डलो जो इतिहास के पन्नों में दुनिया का सबसे लंबा आदमी होने का खिताब गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराये हुए हैं। जिनकी लंबाई 8 फीट 11.1 इंच थी। रोबोट वार्डलो जितना लंबा आदमी आज तक इस धरती पर पैदा नहीं हुआ है। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में आज भी उनका नाम दर्ज है।



रोबर्ट कहां  के रहने वाले थे?

रॉबर्ट वार्डलो अमेरिका के एल्टन (इलीनोइस) शहर के रहने वाले थे। 22 फरवरी 1918 को जन्मे रॉबर्ट के माता-पिता तो सामान्य ऊंचाई वाले थे। लेकिन रॉबर्ट माता पिता की तरह नहीं बल्कि उनसे कुछ हटके थे।



उनकी ऊंचाई जन्म के कुछ महीने बाद से ही बहुत बढ़ने लगी थी। महज छह महीने में ही उनकी लंबाई तीन फीट के करीब हो गई थी। जबकि उनके जितनी ऊंचाई पाने में सामान्य बच्चों को कम से कम दो साल का वक्त लगता है। रोबोट के माता-पिता की लंबाई सामान्य थी। 




लेकिन ठीक इसके विपरीत रोबोट अपने माता पिता से बहुत ज्यादा लंबे थे। रोबोट की लंबाई सामान्य से ज्यादा थी।रॉबर्ट जब एक साल के थे तो उनकी लंबाई तीन फीट छह इंच थी, जो दो साल के होते-होते चार फीट छह इंच से ज्यादा हो गई। पांच साल की उम्र में वो पांच फीट छह इंच से ज्यादा और 12 साल की उम्र में वो सात फीट लंबे थे। उस वक्त रॉबर्ट दुनिया के सबसे लंबे लड़के थे।


रॉबर्ट वडलॉ के लिए खास जूता बनाया गया।

रॉबर्ट वार्डलो का दुनिया में सबसे लंबा होना आश्चर्यचकित था। लोग रॉबर्ट वडलॉ को देखकर चौक जाते थे। उनका लंबा होना ही उनकी मौत की वजह बना।

साल 1936 में महज 18 साल की उम्र में रॉबर्ट ने दुनिया के सबसे लंबे आदमी का रिकॉर्ड तोड़ दिया था। उस समय उनकी ऊंचाई आठ फीट चार इंच थी। वैसे आमतौर पर लोग 9-10 या 11 नंबर का जूता पहनते हैं, लेकिन एक जूते बनाने वाली कंपनी ने रॉबर्ट के लिए खास जूते बनाए थे, जिसका साइज 37AA था।


 

रोबोट वाडलो की लंबाई उनकी मौत की वजह बनी।

रॉबर्ट की असाधारण लंबाई के बढ़ने का मुख्य कारण उनकी पीयूषिका-ग्रंथि का बढ़ना था। हालांकि ज्यादा लंबाई रॉबर्ट के लिए घातक सिद्ध हुई, क्योंकि उनके पैर और एड़ियों में कमजोरी आ गई थी, जिसकी वजह से उन्हें चलने-फिरने में दिक्कत होती थी। 



बाद में तो उन्हें चलने के लिए सहारे की जरूरत पढ़ने लगी थी। उनके टखने में एक छाला भी हो गया था, जिससे बाद में इन्फेक्शन हो गया। इन सभी परेशानियों से जूझते हुए 15 जुलाई 1940 को महज 22 साल की उम्र में उनकी मौत हो गई थी। 



बताया जाता है कि रॉबर्ट के शव को 450 किलो भारी ताबूत में रखकर दफनाया गया था। इस ताबूत को उठाने में 12 से ज्यादा लोग लगे थे। उन्हें एल्टन के ओकवुड कब्रिस्तान में दफनाया गया है। एल्टन में उनकी एक आदमकद मूर्ति आज भी लगी हुई है। 

  


दोस्तों आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो प्लीज हमारी इस पोस्ट को लाइक करो एंड सब्सक्राइब करो और कमेंट बॉक्स में कमेंट करना ना भूलें आपकी कमेंट पढ़कर हम उत्साहित होंगे और ज्यादा अच्छा लिखने की कोशिश करेंगे।

                                                धन्यवाद।

Post a Comment