चीन में बच्चों के पेशाब में कैसे उबाले जाते हैं अंडे जाने।

संडे हो या मंडे रोज खाओ अंडे यह वाक्य आपने सुना होगा। अंडे खाना कुछ गलत नहीं है, अंडा हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक माने गए हैं। अंडे खाने से हमारे आंख के रेटिना पर बहुत ज्यादा फर्क पड़ता है जिससे हमारी आंख में मोतियाबिंद नहीं आता है। और हमारी रोशनी बरकरार रहती है। अंडे में कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसलिए हमारे लिए अंडे का सेवन बहुत ही ज्यादा फायदेमंद माना गया है। लेकिन अगर आपके सुनने में यह आता है कि अंडा बच्चों के पेशाब में उबालकर खाएं। तो आपको कैसा महसूस होगा।बच्चों के पेशाब में उबला हुआ अंडा  खाएं ऐसा सुनने में ही अच्छा नहीं लगता है। यह सुनते ही घिन आने लगती है। लेकिन यह सच है, एक ऐसा देश है जहां बच्चों के पेशाब में अंडा उबालकर खाया जाता है। और यहां यह सब कुछ आम बात है।अंडे उबालने के लिए बच्चों का पेशाब इकट्ठा किया जाता है। और उसमें अंडे उबालकर खाए जाते हैं। जानने के लिए की बच्चों के पेशाब में अंडे उबालकर कहां खाए जाते हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताने वाले है। कि बच्चे के पेशाब में अंडा उबालकर कहां खाया जाता है। और इसको खाने के क्या फायदे हैं। तो चलिए यह जानने के लिए कि बच्चे के पेशाब में अंडा उबालकर कहां खाया जाता है। बने रहिए हमारे इस आर्टिकल पर।


चीन के डोंगयोंग शहर में खाये जाते हैं, पेशाब में उबले हुए अंडे।

ईस्टर के लिए चीन में शेर कुछ ऐसी अजीबोगरीब डिश की तैयारी में लगे हैं। जिसके बारे में सुनते ही आपको दिन आने लगेगी। जिस देश की हम बात कर रहे हैं वह डिस है बच्चों के पेशाब में उबले हुए अंडों की। एक रिपोर्ट के अनुसार बताया गया है, कि चीन के झेजियांग प्रांत के डोंगयोंग मैं हजारों साल से की डिश बनाई जाती- खाई जाती है। ब्रिटिश वेबसाइट 'डेली मेल' मे छपी खबर के अनुसार-डोंगयांग के शेफ अपनी इस डिश का नौता पूरी दुनिया में खाने के लिए दे चुके हैं। इसे खाने की तो दूर की बात सिर्फ सुनते ही घिन आने लगती है। लेकिन चीन के डोंगयांग प्रांत में यह डिश बहुत प्रसिद्ध है।


हैरानी की बात यह है कि चीन में इन अंडों की खास सांस्कृतिक अहमियत है। हजारों वर्षों से बच्चों के पेशाब में उबले हुए अंडे बसंत के मौसम में खाने की परंपरा रही है। चीन के ही शेफ लूं मिंग बताते हैं कि अंडों को वाले के लिए बच्चों के पेशाब को स्थानीय स्कूल से इकट्ठा किया जाता है। यहां पर बच्चे स्कूलों में बाल्टी में पेशाब करते हैं, और बच्चों के पेशाब में अंडे उबाले जाते हैं। चीन में बच्चे बाल्टी मे पेशाब करते हैं। जहां पर अंडे उबालने के लिए बच्चों का ताजा पेशाब इकट्ठा किया जाता है।


शेफ का दावा (पेशाब में उबले हुए अंडे हेल्दी होते हैं।)-

शेष दावा करते हैं कि बच्चों के पेशाब में उबले हुए अंडे बहुत ही ज्यादा हेल्दी होते हैं। शेष बताते हैं कि अंडों को दो बार पेशाब में उबाला जाता है। पहले अंडों को ऐसे ही उबालकर फिर उसका छिलका निकाल कर दोबारा फिर अंडों को बच्चों के पेशाब में उबाला जाता है। ताकि पेशाब का टेस्ट अंडों में पूर्ण रूप से समा जाए। इसके बाद भी अंडों को खाने के लिए परोसा जाता है। शेफ लूं मिंग कहते हैं, कि यह अंडे स्वादिष्ट और हेल्दी होते हैं। इन अंडों को खाने से बुखार नहीं आता है।और अगर आप शरीर में सुस्ती महसूस कर रहे हैं, तो यह अंडे खाकर आपको तरोताजा महसूस होगा। शेफ लूं मिंग का कहना है, कि हम इन अंडों को एक्सपोर्ट करने की भी सोच रहे हैं। क्योंकि हम सोच रहे हैं कि चीन से बाहर भी लोग हमारे अंडों की तारीफ करें।


चीन में 2008 में स्थानीय शहर ने इन अंडों को सांस्कृतिक विरासत घोषित कर दिया था। यहां तक की यूनेस्को विश्व विरासत के लिए आवेदन की बात भी चर्चा में रही थी। हालांकि शेफ लूं मिंग यह स्पष्ट रूप से नहीं बता पाए कि साल 2008 में अंडे इतने खट्टे क्यों रहे। लेकिन शेफ लूं मिंग यह दावा करते हैं। बच्चों के पेशाब में उबले हुए अंडे स्वादिष्ट और हेल्दी होते हैं। लेकिन इस थ्योरी पर भारत देश में कोई यकीन नहीं करता है।यहां के एक निवासी वांग जुग्शिंग कहते हैं, 'हमारे यहां यह मान्यता है, कि पेशाब में उबले हुए अंडे सेहत के लिए अच्छे होते हैं और इनसे जुखाम वगैरह नहीं होता है।


दोस्तों हमारे द्वारा दी गई जानकारी अगर आपको पसंद आई हो। तो प्लीज हमारे इस आर्टिकल को लाइक करो शेयर करो और कमेंट करना ना भूलें।

                                           धन्यवाद।

Post a Comment