रामपुर:- दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं, अमरुद के पौधे के बारे में। अमरूद एक ऐसा फल है, जो कई सारी बीमारियों में काम में आता है। अमरूद का पौधा गमले में कैसे लगाएं। अमरूद का पौधा गमले में कैसे उगाएं। 

अमरूद का पौधा गमले में कैसे लगाएं, अमरूद का पौधा गमले में कैसे उगाएं।


आपको जानकर हैरानी होगी दोस्तों अमरूद का पौधा गमले में बहुत आसानी के साथ आप अपने घर पर लगा  सकते हैं। अपने घर के टेरिस पर या घर के बालकनी में गमला रखकर उसमें अमरूद का पौधा उगा सकते हैं। आज हम इसी विषय पर चर्चा करेंगे अमरुद के पौधे को गमले में किस तरह लगाया जाता है।


हम कुछ अमरूद के पौधों की बेमिसाल किस्म आपको बताने वाले हैं। जिसे आप अपने घर के गमले में लगाकर उगा सकते हैं। अमरुद एक ऐसा फल है, जो दोस्तों शुगर के मरीज के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद साबित माना गया है। अगर आप भी शुगर के मरीज हैं, तो आप ताजा-ताजा अमरूद खाने के लिए अपने घर की छत या बालकनी में गमला रखकर उसमें अमरूद का पौधा लगा सकते हैं। 


और पौधा लगाने के बाद कुछ समय का इंतजार करना पड़ेगा आपको और आप ताजा-ताजा फल यानी कि अमरूद खाने के लिए तैयार हैं। फिर देर किस बात की है, आप हमारा आर्टिकल पढ़ चुके हैं। और आपको जरूरत है,अपने घर की छत पर गमला रखकर उसमें अमरूद का पौधा उगाने की।

दोस्तों में अपनी वेबसाइट www.hindiguru.worldपर आपके लिए नई से नई जैविक जानकारी लेकर आता रहता हूं। और दोस्तों कुछ मेरे भाई मेरी इन जैविक जानकारियों को पढ़कर उसका फायदा भी उठाते हैं। तो दोस्तों मैं उम्मीद करता हूं आज मैं जो अमरूद के पेड़ के पौधे के बारे में जानकारी लेकर आया हूं।

मुझे उम्मीद है, कि आप इसे पढ़कर  जरूर अपने घर पर गमले में अमरूद का पौधा उगआएंगे। और ताजा ताजा अमरूद खाने का सौभाग्य आपको प्राप्त होगा।


अमरूद का पेड़ गमले में कैसे लगाएं।

अमरूद का पौधा गमले में लगाने का सबसे अच्छा तरीका


अमरूद का पेड़ लगाने के लिए आपको कम से कम 18 इंच या उससे बड़े गमले की जरूरत होगी। अगर आप अमरूद के पेड़ अपने घर के छत पर या घर की बालकनी पर लगाना चाहते हैं तो आपको ताइवान किस्म या इजराइली किस्म के अमरुद के पौधे लगाने की जरूरत पड़ेगी। दोस्तों ताइवान किस्म और इजराइली किस्म के पौधे गमलों के अंदर बहुत ही अच्छे तरीके से ग्रोथ करते हैं। इन दोनों किस्म के पौधों की प्रजाति गमले के अंदर बहुत ही अच्छे तरीके से विरोध करती है और बहुत ही जल्द इस पर फल आता है।

आपके द्वारा लगाए पौधे ग्रोथ नहीं कर रहे हैं, तो अपनाएं ये टिप्स।

  • अगर आपके द्वारा लगाए हुए पौधे ग्रोथ नहीं कर पा रहे हैं। तो हम आपको कुछ ऐसे गार्डनिंग(gardning) के टिप्स बता रहे हैं। जिन्हें आप अपना कर अपने द्वारा लगाए गए पौधों को ग्रोथ कराने में सफल हो सकते हैं।
  • चाय पत्ती जिससे आप चाय बनाते हैं। उस चाय पत्ती को आप फेंके नहीं बल्कि उसको धोकर अच्छे से साफ करके अपने पास रखें। यह पत्ती आप के पौधे की ग्रोथ के लिए बहुत ही लाभदायक है।
  • विटामिंस की गोलियां पौधे की ग्रोथ के लिए यह गोलियां भी बहुत ही अच्छी मानी गई है। इनके इस्तेमाल से भी पौधा बहुत ही अच्छे तरीके से ग्रोथ करने लगता है।
  • प्याज के छिलके पौधे की ग्रोथ के लिए अति उत्तम है। वह प्याज के छिलके जिन्हें आप सब्जी बना कर डकार समझ कर फेंक देते हैं। आप नहीं जानते कि यह पौधे की ग्रोथ के लिए कितने लाभदायक होते हैं। प्याज के छिलकों के इस्तेमाल से आप का पौधा बहुत ही अच्छे तरीके से ग्रोथ करना शुरू कर देता है।
  • पौधों की ग्रोथ के लिए आपको चाहिए कि पौधों को ज्यादा से ज्यादा दूरी पर लगाएं। अगर आपने पौधों को कम दूरी पर लगाया है। तो आप के पौधे कभी ग्रोथ नहीं करेंगे।पौधों को ग्रोथ के लिए दूरी चाहिए इसलिए आप जब भी पौधे लगाएं,तो कुछ दूरी पर लगाएं।
  • धूप-छांव क्या है, यह तो सभी जानते हैं। आप जब भी पौधे लगाएं तो पौधों को ऐसी जगह लगाएं जहां सूरज की धूप पढ़ती हो। क्योंकि दोस्तों पौधों को ग्रोथ करने के लिए धूप की बहुत ही ज्यादा जरूरत होती है। अगर पौधों को धूप नहीं मिलती है, तो पौधे ग्रोथ नहीं करेंगे। आप जब भी पौधे लगाएं, तो पौधों को ऐसी जगह लगाएं जहां पर सूरज की धूप पढ़ती हो।
अमरूद के पौधों में कौन सी खाद डालें।
देसी खाद, सड़ी गोबर की देसी खाद



अगर आपने अपने घर पर या बगीचे में अमरुद के पौधे लगाए हैं। तो आपको उनमें सड़ी गोबर की खाद जिसको हम जैविक खाद कहते हैं। डालने की जरूरत होगी। क्योंकि दोस्तों पौधा कोई भी हो चाहे अमरुद हो या कोई अन्य पौधा हो उसमें खाद डालना अति आवश्यक होता है। और अगर आप अपने द्वारा लगाए पौधों में देसी खाद जिसको जैविक खाद कहा जाता है। डालेंगे तो यह सर्वोत्तम होगा। देसी खाद यानी सड़ी गोबर की खाद पौधों की ग्रोथ के लिए सर्वोत्तम है। इसलिए आप जब भी पौधा लगाएं तो उसमें सड़ी गोबर की खाद जरूर डालें। और साथ ही साथ आप एमपी(MPK) के रसायनिक खाद भी डाल सकते हैं। यह भी पौधों की ग्रोथ के लिए अच्छी है। लेकिन रासायनिक खाद के साथ सड़ी गोबर की खाद डालना अति उत्तम होगा। इसलिए आप जब भी पौधा लगाएं, तो उसमें रासायनिक और सड़ी गोबर की खाद जरूर डालें।

अमरूद का पौधा कितने दिन में फल देता है।
अमरूद का पौधा लगाने के पश्चात कुछ समय बाद उस पर फूल आता है। और दोस्तों अमरुद के पौधे पर फूल आने के बाद 120 से 140 दिन बाद उस पर फल आने लगता है। फल हरे रंग का होता है, और जब यह फल धीरे-धीरे पीला होने लगता है। तब अमरुद पक जाता है,और खाने लायक हो जाता है। अमरूद के पीला होने पर अमरूद की तुडाई शुरू हो जाती है। एक अमरूद का पौधा अपनी एक फसल में 500 से 700 फल देता है। कुछ हाइब्रिड किस्म के पौधे 1 वर्ष में तीन से चार फसल दे देते हैं। लेकिन अमरूद का जो देसी पौधा होता है, वह 1 वर्ष में एक ही बार फल देता है। और उसका फल खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होता है। जो हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक है।

दोस्तों में उम्मीद करता हूं कि मेरे द्वारा दी गई अमरूद की जानकारी आपको बहुत ही ज्यादा पसंद आई होगी। अगर मेरे द्वारा दी गई यह जानकारी आपको पसंद आई है। तो मेरे इस आर्टिकल पोस्ट को आप ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।और हमारी वेबसाइट  www.hindiguru.world की नोटिफिकेशन को पुश करके allow करें।ताकि हम जब भी कोई नई पोस्ट डालें। उसकी जानकारी आप तक सबसे पहले पहुंचे धन्यवाद।

Post a Comment