बप्पी लहरी की मौत कैसे हुई:-डॉक्टर्स का कहना है, कि बप्पी लहरी कई स्वास्थ्य समस्याओं से घिरे थे। लेकिन खर्राटे से जुड़ी जिस अजीब बीमारी की वजह से बप्पी लहरी की मौत हुई। उस बीमारी को मेडिकल साइंस में ऑब्सस्ट्रिक्टव स्लीप एपनिया (obstructive sleep apnea or OSA)कहते हैं।



यह बीमारी नींद से जुड़ी एक गंभीर बीमारी है। इस बीमारी में रात को सोते सोते ही सांस रुक जाती है और इस कारण के ब्लड में ऑक्सीजन की कमी होने लगती है। और कार्बन डाइऑक्साइड इकट्ठा होने लगता है।

भारत के मशहूर डिस्को म्यूजिक को लोकप्रिय बनाने वाले संगीतकार और गायक बप्पी लहरी का मंगलवार को मुंबई के क्रिटीकेयर अस्पताल में निधन हो गया। बप्पी दा की मौत के वक्त उम्र 69 वर्ष थी।

भारत रत्न से सम्मानित लता मंगेशकर के निधन के कुछ दिनों के बाद ही मशहूर संगीतकार और गायक बप्पी लहरी की मौत की खबर सामने आई है। बप्पी दा की मौत की इस खबर को सुनकर मुंबई पूरी तरह से सदमे में है। बप्पी दा की मौत की खबर ने फिल्मी इंडस्ट्रीज को झंझोर के रख दिया है।



बप्पी दा की मौत की खबर सुनकर पहले तो लोगों को यकीन ही नहीं हुआ। सब यही सोचने लगे कि काश यह खबर झूठ हो और बप्पी दा हमारे बीच हों। लेकिन भगवान को कुछ और ही मंजूर था। खबर बिल्कुल सच थी। बप्पी दा इस दुनिया को छोड़ कर जा चुके थे। जब यह खबर पब्लिक में संपूर्ण तरीके से पब्लिश हुई। तो फिल्मी इंडस्ट्रीज और उनके फैन के बीच सन्नाटा पसर गया।

मशहूर संगीतकार और गायक बप्पी दा लहरी ने अपने दर्शकों के बीच 80 के दशक में 'चलते-चलते, डिस्को डांसर और शराबी जैसी फिल्मों में कई सुपरहिट गाने पेश किये हैं। बॉलीवुड के लिए उनकी आखिरी पेशकश 'भंकस' साल 2020 में बनी फिल्म बागी 3 के लिए था।

क्रिटीकेयर अस्पताल के सीएमओ डॉ दीपक नामजोशी के अनुसार:-डॉक्टर दीपक नामजोशी बताते हैं, कि बप्पी दा की तबीयत पिछले कुछ समय से खराब थी। लेकिन अभी अस्पताल में इलाज के दौरान उनका स्वास्थ्य ठीक था। 

और इसी वजह से उनको 14 फरवरी 2022 दिन सोमवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। लेकिन अचानक उनकी तबीयत बिगड़ जाने के कारण सोमवार देर रात में उनको अस्पताल में दोबारा भर्ती किया गया था। मंगलवार को बप्पी दा का निधन इलाज के दौरान हो गया।



बप्पी दा की जिस बीमारी की वजह से मृत्यु हुई। वह उस बीमारी से पिछले कई महीनों से जूझ रहे थे। बप्पी दा जिस बीमारी से ग्रसित थे। वह अक्सर मोटे लोगों में ही पाई जाती है।

बप्पी दा ऑब्स्ट्रक्टिव स्लीप एपनिया बीमारी से झूज रहे थे। और इसी बीमारी के कारण बप्पी दा की मृत्यु हुई। जिस बीमारी की वजह से बप्पी दा लहरी की मृत्यु हुई है। उस बीमारी के क्या लक्षण हैं,आइए जानते हैं।


ऑब्स्ट्रक्टिव स्लीप एपनिया(Obstructive sleep apnea.) के लक्षण।

यह बीमारी बहुत ही घातक बीमारी है,इसमें मरीज ठीक से सो नहीं पाता है।ऑब्स्ट्रक्टिव स्लीप एपनिया नींद से संबंधित एक श्वास विकार है।

इस बीमारी के चलते मरीज को रात में सोते वक्त सांस लेने में दिक्कत होती है। स्लीप एपनिया कई प्रकार के होते हैं। लेकिन ऑब्स्ट्रक्टिव स्लीप एपनिया इनमें प्रमुख हैं।

इस तरह का एपनिया तब होता है, जब आपके गले की मांसपेशियां रुक रुक कर आराम करती है। और आपके श्वास की नली के वायु मार्ग को अवरुद्ध कर देती है। ऑब्स्ट्रक्टिव स्लीप एपनिया का सबसे प्रमुख लक्षण सोते समय खर्राटे लेना है। लेकिन सभी खर्राटे लेने वालों में यह बीमारी नहीं होती है।

Post a Comment