रजब का महीना 2023 में कब है। कुंडे 2023 में कब है हिंदुस्तान में प्यारे मुसलमान भाई इस त्यौहार को रजब महीने के 22 तारीख को कुंडे का त्यौहार मना कर हजरत इमाम जाफर सादिक रजि अल्लाह अनु की फातिहा करते हैं।कुंडो का त्योहार रजब माह की 22 तारीख को मनाया जाता है। इस बार 2023 में रजब का महीना अंग्रेजी महा के दूसरे महीने में पड़ने वाला है। इस बार रजब माह की 22 तारीख अंग्रेजी महा फरवरी की 15 तारीख को होनी है। और इसी दिन गुंडों का त्यौहार मनाया जाएगा।



मुस्लिम कैलेंडर के अनुसार रजब का महीना सातवां महीना होता है। गुंडों का त्यौहार मुस्लिम कैलेंडर के अनुसार ही रजब माह के 22 तारीख को मनाया जाता है। अंग्रेजी महा में रजब का महीना आगे पीछे होता रहता है इसलिए अंग्रेजी महा गुंडों का त्यौहार मनाने के लिए मुकर्रर नहीं है। यह त्यौहर मुस्लिम कैलेंडर के अनुसार ही रजब माह की 22 तारीख को ही मनाया जाता है।

कुडों का त्यौहार मनाने का क्या कारण है।

कुंडे क्यों मनाए जाते इसको मनाने का क्या कारण है। यह आज हम आपको अपने इस लेख में बहुत ही सरल भाषा में समझाने वाले हैं। अगर आप मुस्लिम धर्म से ताल्लुक रखते हैं तो आप पहले से ही जानते होंगे कि गुंडों का त्यौहार क्यों मनाया जाता है और इस को मनाने का क्या कारण है। लेकिन अगर आप नॉन मुस्लिम है, तो शायद आप नहीं जानते होंगे कि कुंडों का त्यौहार क्यों मनाया जाता है। लेकिन आज आप हमारा लेख पढ़कर बहुत ही अच्छे से समझ जाएंगे कि कुंडों का त्यौहार मुस्लिम लोग क्यों मनाते हैं। आइए जानते हैं कुडों का त्यौहार क्यों मनाया जाता है।

हजरत इमाम जाफर सादिक रजी अल्लाहू अन्हु के वसीले से दुआएं मांग कर त्योहार को मनाते हैं। जब मोमिन (कोई व्यक्ति) अल्लाह से हजरत इमाम जाफर सादिक रजि अल्लाहु अन्हु को शामिल कर कर दुआ करता है। तब उसकी दुआ अरसे आजम पर बहुत जल्द ही कुबूल होती है। और मोमिन जब यह दुआ करता है, तब वह हजरत इमाम जाफर सादिक रजी अल्ला हू अनु को कुंडे भरने के लिए अपनी दुआ में कुबूल करता है। और जब उसकी दुआ कुबूल हो जाती है, तब हजरत इमाम जाफर सादिक रजि अल्लाहु अन्हु के कुंडे भरकर उनकी फातिहा कराता है। इसलिए इस त्यौहार को प्यारे मुसलमान भाई बहुत ही शिद्दत के साथ मनाते हैं।

2023 में रजब का महीना कब है।

2023 मैं रजब का महीना अंग्रेजी महीने में कब है।रजब का महिना 2023 में फरवरी महा में पड़ेगा। 2022 में यह महीना फरवरी माह में ही था। लेकिन जब माह की 22 तारीख 2022 में 24 फरवरी थी। और इस बार 2023 में रजब महक की 22 तारीख 15 फरवरी को होनी है। इसलिए इस बार कुंडों का त्यौहार

अंग्रेजी महा फरवरी में 15 फरवरी को होना तय है। यह त्योहार राजा माह की 22 तारीख को होता है जो चांद के अनुसार मुकर्रर की जाती है। गुंडों का त्योहार प्रत्येक वर्ष मुस्लिम कैलेंडर के अनुसार रजब माह की 22 तारीख को मनाया जाता है, और अब 2023 में रजब महा अंग्रेजी महा के फरवरी माह में होगा और कुंडों का त्यौहार 2023 में 15 फरवरी को होने का अनुमान है। अनुमान इसलिए है, क्योंकि कुंडों का त्यौहार चांद की तारीख या नीरज माह की 22 तारीख को होता है और चांद के हिसाब से यह तोहार आगे पीछे हो सकता है।

जो मेरे नॉन मुस्लिम भाई हैं, वह इस बात को बहुत अच्छे से मेरे इस लेख के माध्यम से समझ गए होंगे। कि कुंडों का त्यौहार राजब माह की 22 तारीख को होता है। और इस बार 2023 में रजब महा अंग्रेजी महा के फरवरी माह में लगेगा।15 तारीख को इस त्यौहार के होने का अनुमान है।

Post a Comment