सुदर्शन के पौधे के औषधीय गुण और फायदे।

सुदर्शन का पेड़ कैसा होता है


Sudarshan plant:- दोस्तों नमस्कार आज मैं आपके लिए इस आर्टिकल में एक ऐसा पौधा लेकर आया हूं, जो औषधीय गुणों से भरपूर है। दोस्तों आपने इस पौधे का नाम सुना ही होगा। और अगर नहीं सुना है, तो मैं इस पौधे के बारे में आपको विस्तार से बताने वाला हूं। जानने के लिए आप मेरा आर्टिकल पूरा पढ़ें। अक्सर आपने देखा होगा इंटरनेट पर लोग सर्च करते रहते हैं। इस पौधे के बारे में सुदर्शन का पौधा कहां मिलेगा, सुदर्शन का पौधा दिखाएं, सुदर्शन का फूल, सुदर्शन प्लांट इन वास्तु आदि।क्योंकि दोस्तों अधूरी जानकारी किसी काम की नहीं होती है। इसलिए आज मैं आपको सुदर्शन पौधे के बारे में संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराने वाला हूं।


सुदर्शन पौधा क्या है?(what is Sudarshan) कैसा होता है, सुदर्शन पौधा।


सुदर्शन पौधा एक पुष्प पौधा है। सुदर्शन पौधा आपके आसपास कहीं भी उगाने के कारण सर्व सुलभ माना गया है। यह पौधा बहुत ही गुणकारी है औषधीय गुणों से भरपूर है। सुदर्शन पौधा हमारे शरीर में तमाम बीमारियों के इलाज के लिए बहुत ही अति उत्तम माना गया है। सुदर्शन पौधे की बड़ी-बड़ी पत्तियां और साल में छोटे-छोटे फूलों से बना एक बड़ा फूल और उसकी सुगंधित खुशबू बहुत ही लुभाने वाली होती है।


सुदर्शन के फूल के औषधीय गुणों के आधार पर आयुर्वेद में सुदर्शन का बहुत ही नाम है, और दर्दकारक रोगों के उपचार में सुदर्शन का प्रयोग किया जाता है। सुदर्शन कानदर्द, जोड़ों का दर्द, बवासीर जैसे बीमारियों के लिए फायदेमंद साबित होता है। चलिये जानते हैं कि सुदर्शन के और कितने फायदे हैं। और यह स्वास्थ्य के लिए कितना गुणकारी हैं।


सुदर्शन अण्डाकार शल्क कंद (bulb) वाला शाकीय पौधा होता है। इसके फूल विभिन्न आकार के, सुगन्धित तथा सफेद रंग के होते हैं। इसका कंद बड़ा, 12.5-15 सेमी व्यास (डाइमीटर) का तथा गोलाकार होता है। यह मई से जून महीने के बीच फलता और फूलता है।




सुदर्शन मीठा, कड़वा, तीखा, हजम करने में भारी और गर्म तासीर का होता है। सुदर्शन वात और कफ कम करने में सहायक होता है। तथा इसका कंद जोड़ों का दर्द कम करने में लाभकारी होता है।


सुदर्शन को भारत के अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है। सुदर्शन को जिन नामों से भारत में जाना जाता है। वह हम आपको नीचे बताने वाले हैं।


Sanskrit-सुदर्शन, चक्रांगी, सुदर्शना, चक्राह्वा, मधुपर्णिका;


Hindi-सुदर्शन, सुखदर्शन;


Konkani-कृतमारी (Kritmari), गोल कंदो (Gol kando);


Kannada-विषमूंगूली (Vishamoonguli);


Tamil-विषमुंगिल (Vishamungil), तुडाईवचल (Tudaivachl), विजहामूंगल (Vizhamungal);


Bengali-सुखदूरसन (Sukhdursan), गेराहूनारा-पट्टा (Gaerahonara-patta), सुखदर्शन (Sukhdarshan);


Marathi-गदानी कंद (Gadanikanda), गदनीचा (Gadnicha)।


English-पॉयजन बल्ब (Poison bulb)




सुदर्शन के अनगिनत फायदे।



सुदर्शन एक फायदे अनगिनत, सुदर्शन पौधे के फायदे,

कान दर्द में फायदेमंद सुदर्शन:- अगर आपके कान में दर्द हो रहा है और दर्द का चाहे कारण कोई भी हो। जैसे दांत के दर्द के कारण आपके कान में दर्द है। या फिर ठंड लगने के कारण आपके कान में दर्द हो रहा है। तो आप सुदर्शन के पत्ते का रस निकालकर उसकी बूंदें कान में डालें। आपको बहुत ही जल्द कान के दर्द से राहत मिल जाएगी।


बवासीर में फायदेमंद सुदर्शन:-बवासीर के असहनीय दर्द में अराम देता है, सुदर्शन। सुदर्शन एक ऐसा पौधा है जो पौधा तो एक है लेकिन उसके फायदे अनेक है। अगर इस पौधे के बारे में आपको पता चलता है। तो इस पौधे को संभाल कर अपने यहां पौधारोपण करें। यह पौधा आपके बहुत ही काम आने वाला है। सुदर्शन पौधा बाबासीर के लिए एक वरदान है। सुदर्शन के शल्द कंद को पीसकर अलसी या बवासीर के मस्सों में पीसकर लेप करने से बवासीर में बहुत ही ज्यादा फायदा होता है। दोस्तों अगर आपके परिवार या रिश्तेदारों में या फिर आपके किसी मिलने वाले को या उसके रिश्तेदारी में किसी को बवासीर है। तो मैं यह सलाह दूंगा कि एक बार सुदर्शन के पत्ते का लेप जरूर लगाएं। यह बवासीर में बहुत ही ज्यादा फायदा करता है।


सफेद पानी (लिकोरिया)में फायदेमंद सुदर्शन:-बहुत सारी औरतों में यह बीमारी होती है, कि उनके प्राइवेट पार्ट से सफेद पानी आता है। और इस सफेद पानी को ही लिकोरिया कहा जाता है। महिलाओं में सफेद पानी की समस्या से उनके शरीर में बहुत ज्यादा कमजोरी हो जाती है। महिलाओं की कमर में दर्द रहने लगता है। और महिला काम करने से परेशान हो जाती है। सुदर्शन लुकोरिया में बहुत ज्यादा फायदा करता है। लिकोरिया को ठीक करने के लिए सुदर्शन के पत्ते को दूध में पीसकर सेवन करने से सफेद पानी की वजह से जो दर्द महिला के शरीर में होता है। सुदर्शन का सेवन करने से दूर हो जाता है।


जोड़ों के दर्द में फायदेमंद सुदर्शन:-दोस्तों अगर आप जोड़ों के दर्द से परेशान हैं, तो हमारे बताए हुए तरीके से सुदर्शन का इस्तेमाल करके आप जोड़ों के दर्द से राहत पा सकते हैं। सुदर्शन क्या है, इसके बारे में मैं आपको अपने आर्टिकल में ऊपर बता चुका हूं। यह बहुत ही औषधीय गुण वाला एक पुष्प पौधा है।जो बहुत ही गुणकारी है। अगर आप हमारे बताए हुए तरीके से सुदर्शन पौधे का इस्तेमाल करते हैं। तो आप जोड़ों के दर्द से आराम पा सकते हैं। चलिए अब बात करते हैं। सुदर्शन का इस्तेमाल कैसे किया जाए जो जोड़ों का दर्द ठीक हो जाए।


सुदर्शन के पौधे की जड़ को पीसकर जोड़ों पर लगाएं। सुदर्शन की जड़ को पीसकर जोड़ों पर लगाने से दर्द में राहत मिलती है, और अगर सूजन है, तो उस पर भी लगाएं सूजन पर लगाने से भी फायदा होता है।


कुष्ठ रोग में फायदेमंद सुदर्शन (Sudershan to Treat Leprosy in Hindi)


कुष्ठ का घाव सुखाने में सुदर्शन बहुत फायदेमंद साबित होता है। समान मात्रा में चक्रमर्द बीज तथा जीरे में सुदर्शन का जड़ मिला कर पीस कर लेप करने से खुजली तथा कुष्ठ में लाभ मिलता है।


फोड़ा सुखाने में सुदर्शन फायदेमंद:-फोड़ा सुखाने में सुदर्शन बहुत गुणकारी होता है। भूने हुए शल्क कन्दों को पीसकर फोड़ों पर लेप करने से लाभ (sudarshan ke fayde)होता है। सुदर्शन के गुण फोड़े को जल्दी सुखाने में मदद करता है। सुदर्शन का पौधा बहुत ही गुणकारी है सुदर्शन का पौधा तो एक है लेकिन इसके फायदे अनेक है इसलिए दोस्तों मैं आपक यही सलाह देता हूं कि आप अपने घर पर सुदर्शन का पौधा जरूर लगाएं। सुदर्शन के अनेक फायदे हैं, और सुदर्शन बहुत ही गुणकारी है। जो कभी भी आपके काम आ सकता है।


सुदर्शन के फायदे sudarshan benefit in hindi



घाव में लाभकारी सुदर्शन (Sudershan Heals Abscess in Hindi)

अगर आपके पुराना घाव है, और वह पुराना घाव नहीं सूख रहा है, तो सुदर्शन के कंद को पीसकर घाव पर लगाने से घाव ठीक होता है। सुदर्शन एक ऐसा पौधा है,जो बहुत औषधीय गुणों से भरपूर है। सुदर्शन के पौधे को अपने घर के बगीचे में जरूर लगाएं। यह आपके बहुत ही काम आने वाला है, अगर आपके कोई पुराना घाव हो चुका है। तो आप सुदर्शन के कंद को पीसकर उस घाव पर लगाएं। आपका घाव धीरे-धीरे बिल्कुल ठीक हो जाएगा।


त्वचा संबंधी बीमारियों में फायदेमंद सुदर्शन (Sudershan Benefits in Skin Disease in Hindi)


सुदर्शन के पत्ते के रस में नारियल तेल मिलाकर लगाने से त्वचा संबंधी रोगो से छुटकारा मिलता है। सुदर्शन का पौधा बहुत ही लाभकारी है यह पौधा तो एक है लेकिन इसके फायदे अनेक हैं अगर आप इस बारे में नहीं जानते तो एक बार इस पौधे को अपने घर पर लगाएं और इसके फायदों के बारे में जाने। सुदर्शन के पौधे के अंदर जो उसका मुख्य भाग होता है। सुदर्शन का पत्ता और उसका शुल्क कंद आयुर्वेद में औषधि के प्रयोग में लाया जाता है। सुदर्शन के पौधे का मुख्य भाग उसका पत्ता और शल्क कंद होता है।




बिमारी के लिए सुदर्शन का सेवन और इस्तेमाल का तरीका आपको पहले ही बताया गया है। अगर आप किसी ख़ास बीमारी के इलाज के लिए सुदर्शन के पौधे का उपयोग कर रहे हैं।तो हमारी सलाह है, आप एक बार आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह ज़रूर लें।


दोस्तों अगर आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो हमारी वेबसाइट को फॉलो जरूर करें। ताकि आपको हमारी नई पोस्ट की जानकारी सबसे पहले मिले और आपको उसकी नोटिफिकेशन मिल सके। दोस्तों कमेंट बॉक्स में कमेंट करना ना भूलें। ताकि हम आपकी कमेंट पढ़कर उत्साहित हों। और ज्यादा अच्छा लिखने की कोशिश करें। हमारी इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लोगों में शेयर करें।


                                                       धन्यवाद।      





Post a Comment