मुरादाबाद किस चीज के लिए प्रसिद्ध (फेमस) है,Moradabad kis liye famous hai in hindi.मुरादाबाद कहां पड़ता है जानें।

0

मुरादाबाद किस चीज के लिए प्रसिद्ध (फेमस) है,Moradabad kis liye famous hai in hindi.मुरादाबाद कहां पड़ता है जानें।

मुरादाबाद किस चीज के लिए प्रसिद्ध है


हेलो दोस्तों आज लेकर हाजिर हूं, मैं आपके सामने मुरादाबाद किस चीज के लिए फेमस है। मुरादाबाद कहां पड़ता है, मुरादाबाद का इतिहास हिंदी में, मुरादाबाद में पर्यटक स्थल, मुरादाबाद किस चीज के लिए जाना जाता है, पीतल नगरी किस शहर को कहते हैं, आदि।अक्सर लोग ऐसा इंटरनेट पर सर्च करते रहते हैं, तो जो मेरे प्यारे भाई नहीं जानते कि मुरादाबाद किस चीज के लिए फेमस है।आज मैं आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से यह बताने वाला हूं कि मुरादाबाद किस चीज के लिए फेमस है।

मेरे प्यारे दोस्तों अक्सर आपने देखा होगा कोई ना कोई शहर किसी वजह से सहमत होता है ऐसी ही मुरादाबाद भी अपने एक काम के लिए जाना जाता जो जिसके लिए दनिया भर में फेमस है अगर आप नहीं जानते हैं कि मुरादाबाद किस चीज के लिए फेमस है यह जानने के लिए आप आर्टिकल को कॉल करके नीचे तक पूरा पढ़ें।

मुरादाबाद किस चीज के लिए फेमस है।

मुरादाबाद किस चीज के लिए फेमस है.


दोस्तों आज हम आपको बताते हैं मुरादाबाद किस चीज के लिए फेमस है। अगर आप नहीं जानते हैं,तो हमारे इस आर्टिकल को पढ़ते रहिए आपको पता चल जाएगा। मुरादाबाद किस चीज के लिए फेमस है। 

मुरादाबाद उत्तर प्रदेश राज्य का एक जिला है। यह शहर राजा शाहजहां के बेटे मुराद के द्वारा सन-1600  इस्वी में स्थापित किया गया था। 5,950 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल वाला यह शहर गंगा नदी के पश्चिम की ओर समतल से घिरा है। मुरादाबाद पीतल पर किए गए हस्तशिल्प के लिए पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। 

मुरादाबाद पीतल का एक उद्योग केंद्र है।मुरादाबाद पीतल के लिए दुनिया भर में फेमस है। इसलिए दोस्तों मुरादाबाद को पीतल नगरी या सिटी ऑफ ब्रॉस के नाम से भी जाना जाता है। 

दुनिया भर में यहां का पीतल सबसे ज्यादा मशहूर है दूर-दूर से लोग यहां के पीतल को देखने और खरीदने के लिए आते हैं। दोस्तों अब आप समझ गए होंगे कि मुरादाबाद किस चीज के लिए फेमस है।


मुरादाबाद शहर रामगंगा नदी के पश्चिम में स्थित है। रिकॉर्ड के मुताबिक वर्ष 1632 में मुगल सम्राट शाहजहां, ने रुस्तम खान को नियुक्त किया। इस क्षेत्र पर कब्जा करके किले की स्थापना कर उसका नाम रुस्तम नगर रखने को कहा। लेकिन बाद में इस शहर का नाम मुरादाबाद रखा गया। जो बादशाह शाहजहां के बेटे मुराद बख्स के नाम पर रखा गया था,और आज इस शहर को इसी नाम से जाना जाता है।

जैसा कि आप जानते हैं मुरादाबाद पीतल पर हस्तशिल्प के कार्य के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है। यहां की कारीगरी के नमूने दुनिया भर में जैसे कनाडा जर्मनी स्विट्जरलैंड संयुक्त राज्य अमेरिका ब्रिटेन और मध्य पूर्व देशों को निर्यात किए जाते हैं।


मुरादाबाद के पर्यटक स्थल कौन-कौन से हैं।

मुरादाबाद में पीतल के उद्योग के साथ-साथ और भी अन्य ऐसी जगह हैं जो घूमने लायक है। आज हम आपको अपने इस लेख में मुरादाबाद के पर्यटक स्थल कौन-कौन से हैं इस बारे में बताएंगे। तो आइए जानते हैं मुरादाबाद के पर्यटक स्थल कौन-कौन से हैं।

भारत के अन्य शहरों की तरह यहां भी धार्मिक स्थल है जो घूमने लायक है जैसे:-सीता मंदिर बड़े हनुमान जी मंदिर कुंज बिहारी मंदिर साईं मंदिर और पातालेश्वर मंदिर आदि।

हमारे भारत देश में मुगलों ने भी शासन किया है इसलिए यहां पर मुगलों के द्वारा बनाए गए कई स्मारक है जो देखने लायक है।

नजीबिदौला का किला, मन्दबार का महल और जामा मस्जिद शामिल है।

मुरादाबाद में घूमने के लिए अगर आप अपने परिवार के साथ आए हैं तो आप एंटरटेनमेंट करने के लिए प्रेम वंडरलैंड और प्रेम वाटर किंगडम जा सकते हैं यहां आपको बहुत ही अच्छा एंटरटेनमेंट होगा।

मुरादाबाद कैसे पहुंचा जाए, या मुरादाबाद पहुंचने का रास्ता।

हाय दोस्त आप बात करते हैं कि मुरादाबाद कैसे पहुंचा जाए। हम आपको अपने आसान से शब्दों में ऐसी डायरेक्शन देने वाले हैं, क्या आप बहुत आसानी के साथ मुरादाबाद पहुंच सकते हैं।

मुरादाबाद जिला दिल्ली हाईवे पर रामपुर और पाक वाले के बीच में पड़ता है। अगर आप रामपुर की ओर से यानी कि बरेली की तरफ से आ रहे हैं तब आपको जिला मुरादाबाद रामपुर से पश्चिम की ओर 26 किलोमीटर क्रॉस करके पड़ेगा। और अगर आप दिल्ली की ओर से आ रहे हैं तब आपको मुरादाबाद जिला पाकबाडा क्रॉस करके 15 किलोमीटर की दूरी पर जिला मुरादाबाद पड़ेगा।

उम्मीद करता हूं कि हमारे द्वारा बताई गई डायरेक्शन से आप बहुत आसानी से जिला मुरादाबाद में प्रवेश कर सकते हैं।


एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)