कालू पीर सैयद की दरगाह(मजार) कहां है।kalu peer sayyad ki dargah kaha hai.

हजरत कालू पीर सैयद की दरगाह कहां पर है


कालू पीर सैयद की दरगाह कहां है,बहुत सारे लोग गूगल पर सर्च करते हैं कालू पीर सैयद की दरगाह के बारे में। आज हम उन्हीं लोगों के लिए अपनी यह पोस्ट लेकर हाजिर हूये हैं सिर्फ और सिर्फ इसी उद्देश्य के साथ कि जो भाई गूगल, यूट्यूब आदि प्लेटफार्म पर सर्च करते हैं। कालू पीर सैयद की दरगाह के बारे में उनकी आज से रिसर्च समझो खत्म हो गई। क्योंकि इससे अच्छा तरीका कोई और नहीं होगा आप को समझाने के लिए यह बताने के लिए कालू पीर सैयद की दरगाह कहां पर है।

कालू पीर सैय्यद एक ऐसी हसती हैं जिनकी दरगाह या मजार पर हजारों की तादात में लोग अपनी अपनी मन्नतें लेकर हाजिर होते हैं। और उन्ह लोगों को उनकी मन्नतें कालू पीर सैयद की तरफ से झोली में डाल दी जाती है।। कालू पीर सैयद की दरगाह पर हिंदू, मुस्लिम,सिख, इसाई सभी बिरादरी के लोग बड़ी शिद्दत (श्रद्धा) के साथ मानते हैं।

कालू पीर सैयद की दरगाह कहां स्थित है।

कालू पीर सैयद की दरगाह कहां स्थित है इसके बारे में आपको हमारा यह आर्टिकल पढ़कर पता चल जाएगा कालू पीर सैयद की दरगाह कहां पर स्थित है। कालू पीर सैयद एक ऐसे पीर हैं जिन्हें हिंदू और मुस्लिम दोनों ही धर्म के लोग बहुत ही श्रद्धा और शिद्दत के साथ मानते हैं। कालू पीर सैयद की दरगाह पर हिंदू मुस्लिम समुदाय के लोग अपनी फरियाद और मन्नते लेकर कालू पीर सैयद की दरगाह पर हाथ उठाकर दुआएं मांगते हैं और कालू पीर सैयद की दरगाह पर दुआएं मांगने से बहुत जल्द ही दुआएं कुबूल होती हैं लोगों के बिगड़ते काम बन जाते हैं।

जिस किसी ने भी कालू पीर सैयद की दरगाह अगर नहीं देखी है तो वह हमारा यह आर्टिकल पढ़कर इसके माध्यम से बहुत ही आसान रास्ते के द्वारा कालू पीर सैयद की दरगाह पर पहुंच सकता है।और अपनी फरियाद और मन्नतें कालू पीर सैयद की दरगाह पर हाथ उठाकर उनसे मांग सकता है। इंशा अल्लाह बहुत ही जल्द उसकी दुआ और मन्नते कालू पीर सैयद की दरगाह पर उनके सिलसिले से अल्लाह की बारगाह में बहुत ही जल्द कुबूल फरमायी जाएगी।

कालू पीर सैयद की दरगाह पर हजारों की तादाद में श्रद्धालु पहुंचते हैं और उनकी दरगाह पर दुरूद फातिहा कराते हैं।

कालू पीर सैयद की दरगाह कहां पर है:-आज आप जानेंगे कालू पीर सैयद की दरगाह कहां पर है। कालू पीर सैयद की दरगाह पतरामपुर जसपुर के जंगल के बीचोबीच स्थित है। इंसान तो इंसान जानवर भी इन की दरगाह पर सलामी देते  हैं।इनकी दरगाह पर साल में एक बार शेर जो जंगल का राजा होता है वह भी सलामी देने के लिए आता है।

कालू पीर सैयद की दरगाह पतरामपुर के घनघोर जंगल के बीचो बीच स्थित है। यहां बहुत ही आसानी के साथ पहुंचा जा सकता आप जा किसी भी राज्य है यह किसी भी शहर से हैं जब आप जसपुर रोड पतरामपुर पहुंचेंगे वहां किसी से भी पता करने पर आपको हजरत कालू पीर सैयद की दरगाह को कोई भी बता देगा। क्योंकि हजरत कालू पीर सैयद की दरगाह बहुत ही प्रसिद्ध है। इनकी इसी प्रसिद्धि के कारण कालू पीर सैयद की दरगाह को ढूंढने में कोई मुश्किल नहीं होगी बहुत ही आसानी से इनका पता मिल जाएगा और आप बहुत ही आसानी के साथ इनके दरगाह पर पहुंच जाएंगे।

Post a Comment