मस्जिद में दाखिल होने की दुआ हिंदी और इंग्लिश में।Masjid me daakhil hone ki dua in hindi aur in english.

मस्जिद में दाखिल होने की दुआ हिंदी में


आज हम अपने इस आर्टिकल में मस्जिद में दाखिल होने की दुआ को हिंदी में बताने वाले हैं। इसके साथ साथ हम आपको मस्जिद से बाहर आने की दुआ को भी हिंदी में बताएंगे।लेकिन इन सबसे पहले हम आपको वह बात बताएंगे जो शायद आप जानते ही होंगे, अगर नहीं जानते हैं तो हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से आपको मालूम हो जाएगा।

मस्जिद अल्लाह पाक का घर है,उसमें जाने के लिए सबसे पहले हमें पाक साफ होना बहुत ही जरूरी है।

हमें कोई भी काम करने से पहले सारी कायनात को पैदा और बनाने वाले अल्लाह पाक का नाम लेना जरूरी है। उसका नाम लेकर हमें काम करना चाहिए मौला ए करीम रब्बुल आलमीन हर बात को जानता है।

उससे कुछ छिपा नहीं है इसलिए मेरे प्यारे इस्लामी भाइयों मेरी आपसे दरख्वास्त है कि आप जो भी काम करें अल्लाह पाक का नाम लेकर शुरू करें इंशाल्लाह आपको उसमें बहुत ही जल्द कामयाबी हासिल होगी। 

आइए आप बात करते हैं मस्जिद में दाखिल होने और बाहर निकलने की दुआ के बारे में जो हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से हिंदी में बताने वाले हैं।

मस्जिद में दाखिल होने की दुआ हिंदी, इंग्लिश में।

मस्जिद के अंदर दाखिल होने की दुआ को हमने हिंदी में लिखा है।क्योंकि मेरे प्यारे भाइयों हिंदी हमारी मातृभाषा है मेरे प्यारे इस्लामी भाई हिंदी में बहुत ही जल्द मस्जिद में दाखिल होने की दुआ को पढ़कर याद कर सकते हैं।

अल्लाहुम्मफ-तहली अबवाबा रहमतिका।

तर्जुमा:-हे अल्लाह तू अपनी रहमत के दरवाजे मेरे लिए खोल दे।

****************************************************************************

मस्जिद के अंदर दाखिल होने की दुआ इंग्लिश में।

Allahummaf tahali,Abwaba Rahmatika.

Tarjuma:-Ae allah tu apni rahmat ke  darbaje khol de.

मस्जिद में दाखिल होते समय इन बातों का रखें ख्याल 

1.अपना शरीर और कपड़ा दोनों को पाक रखें।

2.अगर आप नापाक है, तो मस्जिद में जाने से बचें।

3.ध्यान रखें अगर आप नापाकी हालत में मस्जिद के अंदर दाखिल होकर नमाज़ अदा करते हैं तो आप की नमाज कुबूल नहीं होगी और आप गुनाह-ऐ- अजीम में शामिल हो जाएंगे।

4.मस्जिद के अंदर दाखिल होते समय अपना दाहिना पैर पहले रखें। इस बात को शायद आप पहले से ही जानते होंगे हर अच्छे काम के लिये पहले दाहिना पैर अंदर रखा जाता है।

5.मस्जिद में दाखिल होते समय अपने मन में ही मस्जिद में दाखिल होने की दुआ को पढ़ें।

6.चप्पल और जूते को मस्जिद के बाहर ही उतारे।


मस्जिद से बाहर निकलते वक्त की दुआ हिंदी में।

प्यारे इस्लामी भाइयों मस्जिद में दाखिल होने के साथ-साथ मस्जिद से बाहर निकलने की दुआ भी है, जो कि हम आपको हिंदी में बतायेगें।

अल्लाहुम्मा इन्नी अस-अलुका मिन फज़लिका।

तर्जुमा:-अल्लाह मैं तुझसे फजल और बरकत मांगता हूं।

*************************************

मस्जिद से बाहर निकलते वक्त की दुआ इंग्लिश में।

Allahumma inni as-aluka min fazlika.

Tarjuma:-ae allah mein tujhse Fazal aur barakat mangta hu.

मस्जिद से बाहर निकलते वक्त रखें इन बातों का ख्याल।

1.मस्जिद से बाहर निकलते समय सबसे पहले बाएं पैर को बाहर रखें। उसके बाद मस्जिद से बाहर निकलते समय की दुआ पढ़े।

2.दुआ को धीरे या अपने मन में पढ़ना चाहिए इस दुआ को तेज पढ़ने से बचें।

3.दुआ को पढ़ने के बाद दुरुद शरीफ को पढ़ सकते हैं और रास्ते में तस्वीर को पढ़ सकते हैं।इंशाल्लाह बहुत ही अच्छा होता है तस्वीह को पढ़ना।

4.मस्जिद से बाहर निकलने के बाद किसी ऐसी जगह जहां चुगल खोरी ओर बुरे काम होने की आशंका है, वहां ना रुकें। सीधे अपने घर जाकर रुकें।

मस्जिद में दाखिल होने और मस्जिद से बाहर निकलने की दुआ को हमने बहुत ही अच्छे से हिंदी और इंग्लिश में आपके सामने पेश किया है। अगर इन दुआ में कोई गलती आपको नजर आती है तो प्लीज आप से हमारी प्रार्थना है कि कमेंट करके जरूर बतायें।      धन्यवाद।


Post a Comment